QR कोड स्कैन करके WeChat पर रोलेक्स को फ़ॉलो करें
रोलेक्स के गोल्डन डायल

डायल

घड़ी के अनेक चेहरे

डायल घड़ी को उसका चेहरा और अपनी एक पहचान देता है। यह घंटे, मिनट, सेकंड, तारीख और समय के अन्य संकेतों को भी प्रदर्शित करता है। डायल पहनने वाले और घड़ी के मैकेनिकल मूवमेंट के बीच का इंटरफ़ेस होता है, और उसे सुइयों द्वारा दी गई जानकारी तथा अलग-अलग एपर्चर को बहुत छोटे स्थान में समाहित करना पड़ता है, और साथ ही सुंदरता तथा पढ़ने में सहूलियत की कठोर आवश्यकताओं का भी ध्यान रखना होता है।

डायल बनाना वास्तव में एक उत्कृष्ट कला से कम नहीं है, या यूँ कहें कि अनेक कौशलों का संयोग है, जिसमें शानदार कलात्मक अनुभव और अत्याधुनिक तकनीक दोनों की ज़रूरत होती है। ऐसी घड़ी निर्माता कम्पनियां बहुत कम हैं जो, रोलेक्स की तरह, डिज़ाइन से लेकर उत्पादन तक डायल बनाने के सभी पहलुओं को इन-हाउस संपूर्ण करती हैं।

मदर ऑफ़ पर्ल

एक मंत्रमुग्ध कर देने वाला केलिडोस्कोप

मदर-ऑफ़-पर्ल कुदरती तौर पर रहस्यों और आश्चर्यों से भरा होता है। इसका रंग पिंक, व्हाइट, ब्लैक या येलो हो सकता है जो इसकी उत्पत्ति पर निर्भर करता है, और सीप के जिस भाग से इसे निकाला गया है, उसके अनुसार, इसकी संरचना और रंग की गहनता अलग-अलग हो सकती है। अलग-अलग रोशनियों में यह तूफ़ानी आसमान, चमकते चाँद या पानी में झिलमिलाती परछाइयों का आभास दिला सकता है।

रोलेक्स में, मदर-ऑफ़-पर्ल को कभी कृत्रिम ढंग से रंगा नहीं जाता है। केवल इसके कुदरती सौन्दर्य को बढ़ाने और मूल रंगतों को बचाए रखना काफ़ी काम और कौशल की मांग करता है। मदर-ऑफ़-पर्ल के सभी डायल अपने आप में अनन्य होते हैं। बिल्कुल एक-जैसा डायल कभी दूसरी कलाई की शोभा नहीं बढ़ाएगा।

कुछ लोगों को इसमें एक तूफ़ानी आसमान दिखाई देगा जिसमें बिजली कड़कने वाली है, जबकि दूसरों को उमड़ते-घुमड़ते बादलों की अद्भुत आकृतियां दिखाई देंगी।

रोलेक्स के मदर-ऑफ़-पर्ल
रोलेक्स डायल
डा • यल
  1. रोलेक्स घड़ी का विशिष्ट अग्र-भाग, इसकी पहचान और पठनीयता के लिए जिम्मेदार है।
  2. धूमिल होने से बचाने के लिए 18 कैरट गोल्ड से तैयार विशिष्ट घंटे के मार्कर।
  3. रोलेक्स के विशिष्ट रंग, बनावट और मोटिफ़ में हजारों अनूठी विविधताएँ शामिल हैं।
  4. पूर्णता सुनिश्चित करने के लिए, आम तौर पर हाथ से डिज़ाइन की गई और इन-हाउस निर्मित।
  5. जहाँ शिल्प के प्रति अद्वितीय समर्पण हमेशा पूर्ण रूप से प्रदर्शित होता है।
  6. रोलेक्स का तरीका।
रोलेक्स का डायल चयन

एप्लीक

चेहरे की भावनापूर्ण खूबियां

12 बजे पर रोलेक्स का क्राउन, अरबी या रोमन अंक, ज्यामितीय आकृतियों में क्लासिक या प्रोफ़ेशनल घंटे के चिह्न या सेटिंग में चमकते नग – अगर डायल घड़ी का चेहरा है, तो एप्लीक वे खूबियां हैं जो उसके व्यक्तित्व को गहराई प्रदान करती हैं।

रोलेक्स के भावनापूर्ण एप्लीक

रोमन काल में चाय का समय

क्या आप जानते हैं?

किसी घड़ी की विशेषता बहुत कुछ उसके डायल पर मौजूद ब्यौरों की वजह से होती है... रंग, नग, घंटे के चिह्न, अंक – अरबी या रोमन, जिन सबसे हम अच्छी तरह परिचित हैं। लेकिन कितने लोग रोलेक्स डायल पर बनी रोमन अंकों की सजावटों की एक खास विशेषता के बारे में जानते हैं?

IV के स्थान पर IIII के प्रयोग को घड़ी मेकर्स का फोर कहा जाता है और इसके उपयोग के किसी एक, निश्चित कारण का पता नहीं चल सका है। एक चीज़ तय है: यह कोई हाल की परंपरा नहीं है। IIII अंकन का प्रयोग प्राचीन मिस्र के लोग, यूनानी और बाद में प्राचीन इटली के एट्रुस्कन लोग करते थे, जिनसे रोमनों ने इसे अपनाया।

वास्तव में, मध्यकाल के उत्तरवर्ती दौर में ही IV का प्रयोग शुरू हुआ – और 13वीं और आरंभिक 14वीं सदी के बीच जब पहली मैकेनिकल घड़ियाँ बनीं, तो उस समय तक IIII का प्रयोग प्रचलन में था। आज भी इसका ही प्रयोग किया जाता है इस बात का कारण अक्सर यह माना जाता है कि इससे डायल में एक अद्भुत संतुलन आता है। आखिरकार, क्या आधुनिकता को हमेशा ही पूर्णता में दखल देने की अनुमति मिलनी चाहिए?

ऑयस्टर डायल - रोलेक्स घड़ीसाज़ी