QR कोड स्कैन करके WeChat पर रोलेक्स को फ़ॉलो करें

सोन्या योंचेवा

प्रत्येक रोलेक्स एक कहानी बयां करती है

बुल्गारियाई ओपेरा सोप्रानो सोन्या योंचेवा ने हाल के वर्षों में बहुत तेज़ी से ख्याति प्राप्त की है। 2010 में, उन्होंने रोलेक्स टेस्टीमोनी प्लेसिडो डोमिंगो द्वारा स्थापित, विश्व की अग्रणी ओपेरा प्रतियोगिता, ओपेरालिया में दोनों प्रथम पुरस्कार एवं विशेष कल्चर आर्टे पुरस्कार प्राप्त किए। बहुत पहले, सोन्या योंचेवा ने यूरोप भर में प्रमुख भूमिकाएँ निभानी शुरू की। 2013 में, उनके कार्यों के बीच, उन्होंने लूसिया डी लैमरमूर की प्रमुख भूमिका में, ओपेरा नेशनल डे पेरिस में प्रदर्शन किया। विश्व की सबसे आकर्षक ओपेरा स्टार के रूप में उनके स्थान की पुष्टि हुई, और उनकी रोलेक्स घड़ी, हमेशा के लिए एक ऐसी अनुस्मारक है जो उस शहर की याद दिलाती है जिसने उन्हें उनके करियर को आगे बढ़ाने में मदद की।

“ मैं कभी भी यह अनुमान नहीं लगा सकती थी कि मेरा करियर मुझे कहाँ ले कर जाएगा, मैं बस अपने परिवार को गर्वित करना चाहती थी।”

मेरे संगीत में, यह कला के सबसे सफल रूपों में से एक है क्योंकि ओपेरा वास्तव में रंगमंच, संगीत, ज्ञान और परंपरा को एक साथ जोड़ता है। यह आपको न केवल ज्ञान देता है बल्कि यह आपको शांति भी देता है, यह आपको न केवल एक कलाकार के रूप में, बल्कि एक श्रोता के रूप में भी, मंच पर अविश्वसनीय पल और उत्तेजना देता है। यह एक अविश्वसनीय अनुभव है।

संगीत जगत से मेरा परिचय मेरी माँ के द्वारा करवाया गया, मेरे ख़याल से उन्हें एक अन्तः प्रेरणा थी कि मैं संगीत को अपनी दुनिया बना सकती थी — वो सही थीं। उन्होंने मुझे स्वयं पर विश्वास करने की शक्ति दी, और उन्होंने मेरे सपनों को पूरा करने के लिए बहुत बड़ा बलिदान दिया। मैं कभी भी यह अनुमान नहीं लगा सकती थी कि मेरा करियर मुझे कहाँ ले कर जाएगा, मैं बस अपने परिवार को गर्वित करना चाहती थी।

“ यह रोलेक्स घड़ी पिछले सालों से और मेरे कई प्रदर्शनों से मेरे साथ रही है। ”

Lara Gut's Rolex watch

मैंने 2007 में, पेरिस में, सीटे डे ला म्यूज़ीक में एक बैरोक गायक के रूप में पदार्पण किया, जो मेरी युवावस्था के समय का संगीत था। वहाँ पर पदार्पण करना एक खास पल था और उसके बाद के मेरे सभी महान पदार्पण भी पेरिस में ही हुए। मैंने ओपेरा डे पेरिस में लूसिया डी लैमरमूर में अभिनय किया। यह सचमुच में मेरे करियर का एक महत्वपूर्ण क्षण था, क्योंकि इसी में मैंने पहली बार बेल केंटो रेपरटोयर की कोशिश की थी। कुछ ही महीने पहले, डॉन कार्लोस करने के लिए, मैं वापिस पेरिस में थी। यह मैंने आज तक जो कुछ भी प्राप्त किया है, उसकी बहुत बड़ी पहचान थी।

मुझे यह रोलेक्स घड़ी 2016 में पेरिस में मिली और मैं एक ही पल में इसकी दीवानी हो गई क्योंकि इसमें भव्यता और परंपरा है। यह संभवतः भाग्य की ही देन है कि पेरिस हमेशा मेरे करियर से जुड़ा रहा है – मैंने वहाँ पर मेरे करियर को निर्धारित करने वाले कई प्रदर्शन किए हैं। यह रोलेक्स घड़ी पिछले सालों से और मेरे कई प्रदर्शनों से मेरे साथ रही है। कई यात्राएँ, अविश्वसनीय साक्षात्कार, प्रदर्शन एवं रीहर्सल। कई बार रीहर्सल अधिक मज़ेदार या स्वयं शो से भी महत्वपूर्ण होती हैं। आज मेरे जीवन के हर एक हिस्से में यह घड़ी मेरे साथ रहती है।

“ मेरी घड़ी न केवल अपने करियर पर लगाए गए मेरे कठोर परिश्रम की, बल्कि मेरे परिवार द्वारा मेरे लिए दिए गए बलिदानों की भी प्रतीक है। ”