QR कोड स्कैन करके WeChat पर रोलेक्स को फ़ॉलो करें

टॉम क्रिस्टेनसेन

प्रत्येक रोलेक्स एक कहानी बयां करती है

एनड्योरेंस ड्राईवर टॉम क्रिस्टेनसेन एक छोटे से डैनिश कस्बे में पैदा हुए और अपने कार-रेसर पिता द्वारा संचालित गैस-स्टेशन में बड़े हुए। उन शुरुआतों ने ही उनके भाग्य का निर्माण किया। क्रिस्टेनसेन ने, 1997 में प्रतिष्ठित 24 आवर्स ऑफ़ ले मैंस रेस के शुरू होने से चार दिन पहले नामांकित किए जाने से पहले जापान में अपना ड्राइविंग करियर शुरू किया। वे न केवल इस रेस को जीते बल्कि उन्होंने एक रिकॉर्ड भी तोड़ा। सन 2000 में, दो दुर्भाग्यशाली वर्षों के बाद, क्रिस्टेनसेन वापिस आए और उन्होंने फिर से न केवल 24 आवर्स ऑफ़ ले मैंस जीती बल्कि लगातार अगली पाँच रेसें जीती। इस अविस्मरणीय दिन के अनुस्मारक के रूप में उन्होंने अपनी रोलेक्स कॉस्मोग्राफ़ डेटोना, “ड्राईवरों के लिए सर्वश्रेष्ठ घड़ी” खरीदी।

Every Rolex Tells a Story — Tom Kristensen

“अगर आपका सपना बड़ा है और आप कुछ ऐसी चीज़ करते हैं जिससे आपको प्यार है, तो सब कुछ अच्छा होता है।”

मुझे याद है जब मैंने पहली बार कारों को रेस करते हुए देखा था तब मैं एक स्ट्रॉलर में बैठा था, मेरी माँ मुझे घूमा रहीं थी और मेरे पिताजी रेस कर रहे थे। जब मैंने ड्राइविंग करना शुरू किया, मुझे तुरंत ही उसकी लत लग गई। मुझे एक गो-कार्ट में चले वो चंद मीटर अच्छी तरह याद हैं। वो स्वतंत्रता, वो तीव्रता, वो फ़ोकस... लेकिन यह बहुत जल्द ही सीमाओं को परीक्षित करना और उनसे खेलना बन गया।

सन 1997 में जब मैंने अपनी पहली 24 आवर्स ऑफ़ ले मैंस रेस में भाग लिया, तब मैंने बहुत सकारात्मक तरंगें, घबराहट और रोमांच महसूस किया। मुझे लगता है कि यह एक आदर्श मिश्रण था। जब मैं छोटा था, तो रेस के बारे में सुनना एक सपना भी नहीं था। वो उस छोटे से स्थानीय गैस स्टेशन से बहुत दूर था, जहाँ मैं अपनी छोटी सी कार में पैडल किया करता था। लेकिन अगर आपका सपना बड़ा है और आप कुछ ऐसी चीज़ करते हैं जिससे आपको प्यार है, तो सब कुछ अच्छा होता है।

1997 में मेरी जीत के बाद, मुझे दो वर्षों तक असफलता मिली; 1999 में, ले मैंस में मुझे आज तक की अपनी सबसे बड़ी बढ़त प्राप्त थी ‑ लगभग चार लैपों की – लेकिन मेरी कार खराब हो गई। वह मेरे करियर की सबसे बड़ी निराशा थी। लेकिन यह बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि जब आप गिरते हैं, तभी आप उठते हैं। आप एक बार ले मैंस जीत सकते हैं, लेकिन इसे दोबारा जीतना अधिक महत्वपूर्ण है। इसने मुझे परिपक्व बना दिया। मैं हमेशा से स्वाभाविक रूप से प्रतिस्पर्धात्मक रहा हूँ, लेकिन मैंने वापिस आ कर जीतने की ऐसी भूख पहले कभी महसूस नहीं की थी। सन 2000 की जीत मेरे लिए अविश्वसनीय रूप से निर्णायक रही थी, और यह लगातार छह जीतों की शुरुआत थी।

लोग मुझसे पूछते हैं, सबसे अच्छा क्या है, वो 24 घंटे का सफर या ले मैंस में जीतना? मैं बस यही कह सकता हूँ कि यदि आप उस 24 घंटे के सफर और उस पूरी तैयारी का आनंद नहीं उठाते, अगर आप हर एक पल का आनंद नहीं उठाते, तो आप जीत नहीं सकते। मैं यकीन से कह सकता हूँ कि जिन लोगों के साथ मैंने ले मैंस में काम किया ‑ टीम के साथी, मैकेनिक, इंजीनियर ‑ मैंने जीवन का एक सबक सीखा है कि अगर आप बहुत अधिक प्रयत्न करते हैं और अगर आप दृढ़ हैं तो परिणाम सकारात्मक ही होता है। किसी चीज़ को वापिस पाने का यही एकमात्र तरीका है।

“सन 2000 की जीत मेरे लिए अविश्वसनीय रूप से निर्णायक रही थी, और यह लगातार छह जीतों की शुरुआत थी। ”

कुछ चीज़ें अप्राप्य लग सकती हैं, लेकिन जब वो मिलती हैं, तो वो आपके बहुत ही प्रिय होती हैं, और आप उन्हें जाने नहीं देना चाहते। दो वर्षों कि असफलता के बाद, उस दूसरी जीत को पाने का किसी न किसी तरह से जश्न मानना बनता था। मैं उस लम्हे को कैद करके हमेशा अपने पास रखना चाहता था। मैंने स्वयं को ड्राईवरों की सर्वश्रेष्ठ घड़ी, एक रोलेक्स डेटोना से पुरस्कृत करने का निर्णय लिया।

टॉम क्रिस्टेनसेन की रोलेक्स घड़ी

मैं एक सामान्य परिवार से हूँ, इसलिए अपनी बचत को एक रोलेक्स डेटोना पर खर्च करना बड़ी बात थी। कई बार, एक घड़ी जीतना एक सुखद अचरज के रूप में आता है, लेकिन अपनी खुद की घड़ी खरीदना ही असली पुरस्कार है।

“मैं उस लम्हे को कैद करके हमेशा अपने पास रखना चाहता था। मैंने स्वयं को ड्राईवरों की सर्वश्रेष्ठ घड़ी, एक रोलेक्स डेटोना से पुरस्कृत करने का निर्णय लिया। ”

मेरी रोलेक्स डेटोना पर वर्ष 2000 खुदा हुआ है। यह मुझे रेस में वापिस ले जाती है और जिस चीज़ के लिए यह है: उत्कृष्ट प्रदर्शन, एक अद्वितीय सौहार्द, और मेरे जीवन के एक विशेष समय को चिन्हित करती है।