QR कोड स्कैन करके WeChat पर रोलेक्स को फ़ॉलो करें

वास्तुकला

रोलेक्स और

रोलेक्स बिल्डिंग

प्रेरणा और तकनीकी नवाचार

एक स्वाभाविक संबंध

परिशुद्धता, उच्च-प्रदर्शन और सौंदर्य के प्रति रोलेक्स की प्रतिबद्धता ही कंपनी को विश्व-स्तरीय वास्तुकला से जोड़ती है। घड़ीसाज़ी में, वास्तुकला की ही तरह, डिज़ाइन की उत्कृष्टता ही,
रूप और कार्य की सर्वोत्तम अभिव्यक्ति का निर्माण करती है।

जगह और तकनीकी नवाचार के सर्वोत्तम उपयोग के प्रोत्साहन से, कंपनी को दुनिया भर में अपनी इमारतों के लिए, ख्याति प्राप्त वास्तुकारों से संबंध विकसित करने में मदद मिली है। इनमें फुमिहिको माकी, केंगो कुमा और माइकल ग्रेव्स शामिल हैं। SANAA के काज़ूयो सेजिमा और रयू निशीज़ावा ने, लोज़ान में रोलेक्स लर्निंग सेंटर फॉर
ईपीएफ़एल को डिज़ाइन किया था।

डलास रोलेक्स बिल्डिंग

इंटरनेशनल आर्किटैक्चर एक्सिबिशन

रोलेक्स और वास्तुकला

जगह और तकनीकी नवाचार के सर्वोत्तम उपयोग के प्रोत्साहन की प्रतिबद्धता के एक हिस्से के रूप में, रोलेक्स, इंटरनेशनल आर्किटैक्चर एक्सिबिशन ऑफ ला बीएनेल डी वेनेज़िया के विशिष्ट सहभागी और टाइमपीस के रूप में, वर्ष 2014 से अब तक, तीसरी बार समर्थन कर रहा है। यह प्रदर्शनी वास्तुकला प्रगति में दुनिया का एक अग्रणी मंच है और इस वर्ष कंपनी अपनी प्रतिभागिता का जश्न एक नए पवेलियन के साथ मना रही है, एक ऐसा पवेलियन जो एक ऑयस्टर परपेचुअल डे-डेट के फ़्लूटेड बेज़ेल की याद दिलाता है। 2018 की प्रदर्शनी 26 मई से 25 नवम्बर तक चलेगी।

इंटरनेशनल आर्किटैक्चर एक्सिबिशन
रोलेक्स पवेलियन

रोलेक्स की कला पहल

गुरु और प्रशिक्षु

रोलेक्स की गुरु और प्रशिक्षु कला पहल, युवा वास्तुकारों में प्रत्येक के साथ अलग-अलग संबंध रख कर मार्गदर्शन करते हुए, वास्तुकला के भविष्य में निवेश करती है। दुनिया के कुछ महानतम वास्तुकार – अलवारो सीज़ा, काज़ूयो सेजिमा, पीटर ज़मथोर और सर डेविड चिप्परफ़ील्ड – एक गुरु के रूप में इस कार्यक्रम में सेवा दे चुके हैं। यह लोकोपकारी कार्यक्रम, दुनिया भर के प्रतिभाशाली युवा कलाकारों को, कलात्मक महारथियों के साथ रचनात्मक सहयोग की एक अवधि के लिए, एक मंच पर लाता है। इसमे छह अन्य विषय भी शामिल हैं: नृत्य,फिल्म, साहित्य, संगीत, थिएटर और दृश्य कला

वास्तुकला स्केच

ऐसे शहरों की योजना जो सुख का निर्माण करें

रोलेक्स कला पहल

2016-2017 में, सर डेविड चिप्परफ़ील्ड और उनके स्विस प्रशिक्षु साइमन क्रेट्ज़ ने, रोलेक्स कला पहल के माध्यम से, एक वर्ष तक साथ मिल कर काम किया। उनकी सफल साझेदारी का परिणाम थी एक किताब: ऑन प्लानिंग – ए थॉट एक्सपेरिमेंट। रोलेक्स और ईटीएच ज्यूरीक के सहयोग से प्रकाशित, इस पुस्तक में यह पता लगाने का प्रयास किया गया है कि ऐसे शहरों का विकास कैसे करें, जो अधिक समावेशीपन और नवोन्मेषी सोच से कल्याण को बढ़ावा दें।

सर डेविड चिप्परफ़ील्ड और उनके स्विस प्रशिक्षु साइमन क्रेट्ज़
नेशनल म्यूज़ियम ऑफ अफ्रीकन अमेरीकन हिस्ट्री एंड कल्चर

गुरु और प्रशिक्षु
2018-2019

रोलेक्स कला पहल

अग्रणी ब्रिटिश वास्तुकार सर डेविड एडजाए, 2018-2019 के लिए, वास्तुकला में रोलेक्स गुरु हैं। उन्होंने नाइज़र की मरियम कमारा को अपनी शिष्य के रूप में चुना। इस मैंटरशिप के दौरान वे दोनों नाइज़र की राजधानी नियामे में, एक सार्वजनिक स्थल के लिए, एक परियोजना में साथ मिल कर काम करेंगे, जो एक सांस्कृतिक केंद्र अथवा कला संस्था का कार्य करेगा।